ताजा ख़बरेंबिहारबेतियाब्रेकिंग न्यूज़राज्य

जिले के दिवंगत श्रमिको के आश्रितों और उनके परिजनों से उनके घर जाकर बिहार की उपमुख्यमंत्री श्रीमती रेणु देवी ने मुलाकात कर मृतकों के आश्रितों को ढांढस बंधाया एवं सहानुभूति प्रकट की।

उपमुख्यमंत्री ने बताया कि उत्तराखंड सरकार, बिहार सरकार और स्थानीय प्रशासनिक पदाधिकारियों के समन्वय एवं अथक प्रयास से मृतकों के शव को उत्तराखंड से बिहार ले आना सम्भव हो सका

बेतिया मोहन सिंह
उत्तराखंड, नैनीताल प्राकृतिक आपदा में जान गंवाये बैरिया प्रखंड , प. चंपारण जिले के दिवंगत श्रमिको के आश्रितों और उनके परिजनों से उनके घर जाकर बिहार की उपमुख्यमंत्री श्रीमती रेणु देवी ने मुलाकात कर मृतकों के आश्रितों को ढांढस बंधाया एवं सहानुभूति प्रकट की। उपमुख्यमंत्री ने बताया कि उत्तराखंड सरकार, बिहार सरकार और स्थानीय प्रशासनिक पदाधिकारियों के समन्वय एवं अथक प्रयास से मृतकों के शव को उत्तराखंड से बिहार ले आना सम्भव हो सका। उपमुख्यमंत्री ने बताया कि उत्तराखंड की सरकार और बिहार सरकार की तरफ से प्रत्येक मृतक के आश्रितों को कुल 7 लाख 33 हजार रुपये की अनुग्रह राशि दी जाएगी। प्रत्येक मृतक के आश्रितों को 4 लाख रु० उत्तराखंड मुख्यमंत्री सहायता कोष से मिलेगा , जबकि 2 लाख रु० बिहार राज्य मुख्यमंत्री सहायता कोष से मिलेगा। 1 लाख रु० श्रम संसाधन विभाग बिहार देगा और, बीस हजार रु० समाज कल्याण विभाग की तरफ से आर्थिक सहायता राशि दी जाएगी। अंत्येष्टि हेतु 10 हजार उत्तराखंड सरकार और 3 हजार प्रखंड स्तर से कबीर अंत्येष्टि योजना से देय होगा। उपमुख्यमंत्री ने कहा विपदा की इस घड़ी में सरकार द्वारा देय राशि शोक संतप्त परिवारों के घावों पर मरहम लगाने की एक छोटी सी कोशिश हैं।
उपमुख्यमंत्री रेणु देवी ने बैरिया प्रखंड के मलाही बलुआ, दक्षिणी पटजिरवा, सूरजपुर में जाकर नैनीताल आपदा में मरे श्रमिको के शोक संतप्त परिजनों से मिलकर भावुक हो गईं। उपमुख्यमंत्री ने पीड़ित परिवारों को हर सम्भव सहायता देने की बात कही।
बिहार राज्य मुख्यमंत्री सहायता कोष की 2 लाख की राशि मृतकों के आश्रितों को भेजी जा चुकी है।

Related Articles

Back to top button