ताजा ख़बरेंबिहारबेतियाब्रेकिंग न्यूज़राज्य

गैर कानूनी ढंग से चलाये जा रहे नर्सिंग होम के संचालन पर कब रोक लगा कर मासूमो की जिंदगी को बचाने का काम प्रशासन करेगा

यह पं चम्पारण जिला के स्वास्थ्य विभाग एवं प्रशासन के सामने यक्ष प्रश्न खड़ा है,

बेतिया मोहन सिंह गैर कानूनी ढंग से चलाये जा रहे नर्सिंग होम के संचालन पर कब रोक लगा कर मासूमो की जिंदगी को बचाने का काम प्रशासन करेगा यह पं चम्पारण जिला के स्वास्थ्य विभाग एवं प्रशासन के सामने यक्ष प्रश्न खड़ा है, इसी लापरवाही एवं प्रशासन के ढुल मूल रवैया का शिकार लौरिया प्रखण्ड के बसंतपुर पंचायत के वार्ड संख्या 5 का सिकंदर दास शिकार हो गया जो महज 25 बर्ष की अवस्था में ही मैनाटांड प्रखण्ड के पीडारी बाजार के एक निजी नर्सिंग होम में डाक्टर की लापरवाही का शिकार होकर दम तोड़ दिया, सिकंदर दास अपने ससुराल बहुअरवा जो पीडारी बाजार के पास का ही एक गाँव गया और उसकी तबियत खराब हुई और उसके ससुराल के लोगों ने उसे पीडारी बाजार स्थित गुप्ता सेवा सदन लेकर गये जिसका संचालन अनिल कुमार गुप्ता नामक करता है, उसने परिजनों से दस हजार रुपये जमा करा कर ईलाज शुरू किया तथा सिरियस बता कर परिजनों से और पैसे की मांग की, परिजन बाहर रेफर करने के लिए गुहार लगाते रहें लेकिन उक्त डाक्टर ने न तो रेफर किया न ठीक से इलाज किया नतीजा हुआ कि सिकंदर दास तीस घंटे के इलाज के बाद दम तोड़ दिया, आखिर यह मौत के सौदागर कब तक अपना मासूमो के जिन्दगी से खेलते रहेगे, पं चम्पारण जिला में ऐसे अबैध नर्सिंग होम धडल्ले से चल रहे हैं, और सबका तार जिला स्वास्थ्य विभाग से जुडा हुआ है, फर्जी डीग्री धारी नर्सिंग होम के नाम पर जहाँ लूट मचाए है वहाँ मौत देने का खेल भी खेल रहे हैं, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी पं चम्पारण के जिला सचिव ओम प्रकाश क्रांति ने पं चम्पारण के जिला पदाधिकारी एवं मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी से ऐसे 75 अबैध नर्सिंग होम के संचालकों पर कार्यवाही करने की मांग की है, यदि इन मौत के सौदागरों पर नकेल नहीं कसा जाता तो भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी आंदोलन करेगी

Related Articles

Back to top button