ताजा ख़बरेंबिहारबेतियाब्रेकिंग न्यूज़राज्य

कार्य के प्रति लापरवाही, स्वेच्छाचारिता, अनुशासनहीनता एवं अनधिकृत अनुपस्थिति को लेकर डीपीओ, लेखा पदाधिकारी, सहायक अभियंता को शोकॉज।

अगले आदेश तक वेतन/मानदेय स्थगित रखने का निदेश।

 

सभी अधिकारी एवं कर्मी मुख्यालय में रहकर कर्तव्यों एवं दायित्वों का निर्वहन करें : जिलाधिकारी।

सक्षम प्राधिकार की अनुमति के बिना अनुपस्थित पाए जाने पर की जाएगी कड़ी कार्रवाई।

बेतिया मोहन सिंह। कार्य के प्रति लापरवाही, स्वेच्छाचारिता, अनुशासनहीनता एवं अनधिकृत अनुपस्थिति को लेकर जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, सर्व शिक्षा अभियान, पश्चिम चम्पारण, बेतिया, श्री राघवेन्द्र मणि त्रिपाठी को जिलाधिकारी द्वारा शोकॉज किया गया है। शोकॉज का जवाब 24 घंटे के अंदर समर्पित करने हेतु निदेशित किया गया है। साथ ही इनका वेतन भुगतान अगले आदेश तक स्थगित रखने का निदेश जिलाधिकारी द्वारा दिया गया है।वहीं श्री आशीष कुमार, लेखा पदाधिकारी, सर्व शिक्षा अभियान एवं श्री देवेन्द्र कुमार, सहायक अभियंता को भी शोकॉज करते हुए अगले आदेश तक मानदेय भुगतान पर रोक लगा दी गयी है।

ज्ञातव्य हो कि डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर, बेतिया में कोविड संक्रमित मरीजों को उपलब्ध कराई जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं के अनुश्रवण हेतु उक्त सभी पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की गई है। डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर की जाँच एवं आवश्यक कार्यवश बुलाये जाने पर ये अनधिकृत रूप से अनुपस्थित पाए गए हैं

जिलाधिकारी, श्री कुंदन कुमार द्वारा इसे अत्यंत ही गंभीरता से लिया गया तथा शोकॉज करते हुये 24 घंटे के अंदर जवाब समर्पित करने का आदेश दिया गया है कि क्यों नहीं आपके विरुद्ध आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के सुसंगत प्रावधानों के तहत कड़ी कार्रवाई की जाय। साथ ही उक्त सभी के वेतन/मानदेय भुगतान पर अगले आदेश तक रोक लगा दी गयी है।

जिलाधिकारी द्वारा पूर्व में ही कोविड-19 महामारी की भयावता की रोकथाम हेतु सभी पदाधिकारियों एवं अधीनस्थ कर्मियों को मुख्यालय में बने रहने हेतु निदेशित किया गया है। ऐसे में डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर में प्रतिनियुक्त पदाधिकारी अगर कार्य में लापरवाही, शिथिलता एवं कोताही बरतेंगे तो उनके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई निश्चित है।

जिलाधिकारी द्वारा जिले के सभी पदाधिकारियों को निदेशित किया गया है कि सभी अपने-अपने मुख्यालय में रहकर दिए गए कर्तव्यों और दायित्वों का निर्वहन तत्परतापूर्वक करेंगे। साथ ही अपने अधीनस्थ अधिकारियों एवं कर्मियों को भी ऐसा करने हेतु निदेशित करेंगे तथा हर हाल में मुख्यालय में बने रहेंगे। विषम परिस्थिति में सक्षम प्राधिकार द्वारा अनुमति मिलने के पश्चात ही मुख्यालय से अनुपस्थित रहेंगे।

जिलाधिकारी ने कहा कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम, जिलेवासियों को समुचित चिकित्सीय सुविधा मुहैया कराने, सरकार द्वारा जारी अद्यतन दिशा-निर्देशों का शत-प्रतिशत अनुपालन कराने के लिए सभी अधिकारियों को पूरी मुस्तैदी के साथ कार्य करना है। कोरोना आपदा की इस घड़ी में सभी को समन्वित प्रयास करना होगा ताकि जिलेवासियों को आपदा की इस घड़ी से सिरक्षित निकाला जा सके।

Related Articles

Back to top button