ताजा ख़बरेंबिहारबेतियाब्रेकिंग न्यूज़राज्य

दोस्त को डूबता देख बचाने गया मो. युसुफ ही नहर में डूब गया।

लगभग 30 घंटा बीत जाने के बाद भी एसडीआरएफ की टीम है खाली।

टीम लगातार नदी में चला रही है सर्च अभियान।

परिजनों का रो रोकर हो गया है बुरा हाल।

घटनास्थल पर उप मुख्य पार्षद प्रत्याशी पति नसीम अहमद भी पहुंचे।

बेतिया मोहन सिंह

पश्चिम चम्पारण के बैरिया थाना क्षेत्र अंतर्गत फिर उस मेन कनाल मैं मथौली पुल के पास रविवार को समय लगभग 12 बजे चार दोस्त गए हुए थे जहाँ उनमें से एक दोस्त का पैर फिसल गया और वो नहर में चला गया। जिसके पश्चात अपने दोस्त को डूबता देख आव न ताव देखा और कालीबाग ओपी के पुरानी गुदरी, तुरहाटोली, वार्ड नंबर 9 निवासी मो. नेसार का पुत्र मो. युसुफ उर्फ रिजु 17 वर्ष भी नदी में कूदकर बचाने लगा। दोस्त को तो डूबने से बचा दिया पर तेज धार के कारण स्वयं को डूबने से बचा ना पाया।

जिसके पश्चात दोस्तों ने आनन फानन में परिवार वालों और बैरिया थाना पुलिस को सूचना दी। जहाँ पुलिस पहुंचकर एसडीआएफ टीम को सूचना दी। जिसके पश्चात घटना के 5 घंटे बाद एसडीआएफ टीम पहुंची पर अंधेरा होना शुरू होने के कारण खोज करने नदी में नहीं जा सकी। परन्तु सोमवार के अहले सुबह 5 बजे से टीम लगातार नहर में सर्च अभियान चला रखा है। और देर शाम तक समाचार लिखें जाने तक सर्च अभियान एसडीआरएफ टीम का जारी था। परन्तु मो. युनुस का शव अब तक नहीं मिल पाया था।

वहीं घटनास्थल और घर पर मौजूद परिजनों का रो रोकर बुरा हाल हो रखा है। साथ ही जैसे जैसे टीम को असफलता हाथ लगता दिख रहा है वैसे वैसे परिजनों की बेचैनी बढ़ती जा रही है। मौके पर उप मुख्य पार्षद प्रत्याशी पति नसीम अहमद भी पहुंच कर मामले का जायजा लिया।

Related Articles

Back to top button