ताजा ख़बरेंबिहारबेतियाब्रेकिंग न्यूज़राज्य

जिले के विभिन्न प्रखंडों में चेकडेम, साइफन, बांध, स्लुईस गेट आदि का होगा निर्माण, तालाब, पईन का होगा जीर्णोंद्धार।

जल-जीवन-हरियाली अभियान अंतर्गत लघु सिंचाई प्रमंडल, बेतिया द्वारा कराया जायेगा कार्य।

जिलाधिकारी ने एनओसी प्राप्त करने तथा क्रियान्वित होने वाले योजनाओं की स्थलीय जांच बीडीओ से कराने का दिया निर्देश।

बेतिया मोहन सिंह। जल-जीवन-हरियाली अभियान अंतर्गत लघु सिंचाई प्रमंडल, बेतिया द्वारा जिले के विभिन्न प्रखंडों में कुल-17 योजनाओं को चिन्हित किया गया है, जहां चेकडेम, साइफन, बांध, स्लुईस गेट आदि का निर्माण तथा तालाब, पईन आदि का जीर्णोंद्धार किया जाना है।
उक्त निर्माण तथा जीर्णोंद्धार कार्यक्रम अंतर्गत (1) मैनाटांड़ प्रखंड के भंगहा के सिसवा गांव के जीओ टावर के पास झिझिरिया नदी में चेक-डेम का निर्माण, मैनाटांड़ प्रखंड के जबदी गांव के पास नाला में सतुईया बांध में साईफन का निर्माण, मैनाटांड़ प्रखंड के जबदी गांव के पास रागी नदी में साईफन एवं बांध का निर्माण, मैनाटांड़ प्रखंड के चकरसन के पास जंगल के पास मानसरोवर दह से निकलने वाली गांव के पश्चिम से सरकारी पईन का जीर्णोद्धार तथा डॉयवर्सन निर्माण, सिकटा प्रखंड के मसवास पंचायत के इनरवा गांव के सरेही पईन का जीर्णोंद्धार, सिकटा प्रखंड के बेहरा के पश्चिम माजर (डेणुआ) नदी पर चेक-डेम निर्माण, कमला नगर के उतर हरदिया के दक्षिण ओलिया बाबा स्थान के पास चेक डेम का निर्माण, सिकटा प्रखंड के बलथर नरकटिया गांव के बीच नौखनिया नदी पर स्लुईश गेट निर्माण, मसवास से गम्हरिया की तरफ जाने वाली बरसाती नाला का जीर्णोंद्धार, रामनगर पखंड स्थित फुलवरिया पोखर का जीर्णोद्धार, बगहा-02 प्रखंड स्थित चम्पापुर भौजी पोखर का जीर्णोंद्धार, लौरिया प्रखंड स्थित साठी पोखर का जीर्णोंद्धार, चनपटिया पखंड स्थित भिखमपुर पोखर का जीर्णोंद्धार, मंझरिया शेख पंचायत के पुरूषोतमपुर पोखर का जीर्णोंद्धार, बगहा-02 प्रखंड अंतर्गत दरूआबारी पोखर का जीर्णोंद्धार, टेंगरही पहाड़ी नदी पर चेक डेम का निर्माण कार्य (तरूअनवा, डेरविरया, मझौवा, यमुनापुर आदि) तथा अहवर शेखसे बयवहरिया नदी, जगराहां एवं अहवर गांव तक पईन का जीर्णोंद्धार कार्य शामिल है।

इस निमित जिलाधिकारी, कुंदन कुमार की अध्यक्षता में समीक्षात्मक बैठक सम्पन्न हुयी। जिलाधिकारी द्वारा कार्यपालक अभियंता, लघु सिंचाई प्रमंडल, बेतिया को निदेश दिया गया कि सभी योजनाओं का एनओसी प्राप्त करेंगे तथा कार्य से संबंधित त्रिस्तरीय फोटो एवं जियो टैग की भी प्रक्रिया अपनाएंगे। साथ ही चयनित 05 एकड़ से बड़े तालाब के संबंध में संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी से योजनाओं की स्थलीय जांच कराना सुनिश्चित करेंगे।

इस अवसर पर उप विकास आयुक्त, अनिल कुमार, अपर समाहर्ता, नंदकिशोर साह, कार्यपालक अभियंता, लघु सिंचाई प्रमंडल, बेतिया, मिथलेश कुमार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button