ताजा ख़बरेंबिहारबेतियाब्रेकिंग न्यूज़राज्य

बारिश नहीं होने से किसानों को हो रही खेती करने में समस्या

जिले में मानसून ने अच्छी शुरुआत की थी फिर बारिश का दौर ऐसा थमा कि बुवाई करने वाले किसान परेशान हो रहे हैं।

चौतरवा।जिले में मानसून ने अच्छी शुरुआत की थी फिर बारिश का दौर ऐसा थमा कि बुवाई करने वाले किसान परेशान हो रहे हैं। पानी के अभाव में और तेज धूप के कारण धान की रोपा का कार्य प्रभावित हो रहा है और जहां बुवाई हो चुकी थी और पौधे धीरे-धीरे बढ़ रहे थे वह बिना पानी के मुरझाने लगे हैं। पिछले 10 दिनों से बारिश ना होने के कारण जिले में खरीफ की फसल की बोवनी ठहर सी गई है। जिसमें से धान केवल 19 प्रतिशत है बोया जा सका है।जिन किसानों के पास सिंचाई की सुविधा है वह तो फसलों को जिंदा रखने के लिए सिंचाई करने में जुट गए हैं।
समस्या असिंचित क्षेत्र के किसानों की है जो बारिश होने का इंतजार कर रहे हैं।हालत यह हो गई कि अब बारिश न होने से किसानों को कुएं और नलकूप के सहारे सिंचाई करनी पड़ रही है। जो नर्सरी धान की रोपा लगाने के लिए तैयार की गई थी वह भी तेज धूप के कारण झुलसती जा रही है।जहां की नर्सरी में धान के पौधे बड़े हो गए हैं तो उन्हें लगाने की समस्या किसानों के समक्ष है जब तक खेत में पानी का भराव अच्छा नहीं होगा रोपा लगाया नहीं जा सकेगा। जो बड़े किसान हैं वह पानी नलकूप से भराव कर रहे हैं ताकि किसी तरह रोपा लग जाए नुकसान न उठाना पड़े लेकिन ऐसा करने से उन्हें लागत अधिक आ रही है। जानकारी अनुसार जिले में धान का रकबा 122 हजार हेक्टेयर रखा गया है।इस वर्ष 5 हजार हेक्टेयर का रकबा बढ़ाया गया है। बारिश न होने से खरीफ फसलों की बोवनी प्रभावित हो रही है किसान राजेश कुमार, प्रमोद कुमार, राजकुमार बताये की जिले में धान 19 प्रतिशत,ही धान की बोनी लगभग हुई हैं

Related Articles

Back to top button