खेलताजा ख़बरेंबिहारबेतियाब्रेकिंग न्यूज़राज्य

खेल मैदान में हो या जीवन में, इसे हमेशा चुनौती के रूप में लेना चाहिए:गरिमा

टूर्नामेंट के पुरस्कार वितरण के बाद लोगों को संबोधित करतीं गरिमा देवी सिकारिया

बेतिया मोहन सिंह।लौरिया अंचल क्षेत्र के कटैया स्थित खेल मैदान में स्वर्गीय गन्नी सिंह-सत्य नारायण सिंह स्मृति नॉक आउट 20-20 क्रिकेट टूर्नामेंट का फाइनल मुकाबला खेला गया। इस प्रतियोगिता में शामिल कुल 10 टीमों में अव्वल नेशनल क्रिकेट क्लब सहादतपुर की टीम विजेता और नन्दन क्रिकेट क्लब मरहिया की टीम उप विजेता रही। टूर्नामेंट के समापन समारोह की मुख्य अतिथि बेतिया नगर परिषद की निवर्तमान सभापति रहीं गरिमा देवी सिकारिया ने रविवार की शाम विजेता व उप विजेता टीमों को ट्रॉफी और पुरस्कार बांटने के बाद खिलाड़ियों के साथ हजारों दर्शकों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि ‘खेल’ मैदान पर खेला जा रहा हो या जीवन में, इसको हमेशा एक चुनौती की भावना से लेना चाहिए। इसके साथ ही यह भी जरूरी है कि खिलाड़ी को कभी भी मन से नहीं हारना चाहिए।

 

उन्होंने कहा कि खेल में जीत तो महत्वपूर्ण है ही, पर हारना भी एक सबक होती है। हर खिलाड़ी को इससे एक सीख के रूप में लेनी चाहिए।इससे पहले खेले गए टूर्नामेंट के फाइनल मुकाबले में पहले बैटिंग करते हुये सहादतपुर की टीम ने 20 ओवर में 210 रन बनाया। जवाबी पाली में में कटैया की टीम निर्धारित 20 ओवर में 170 रन ही बना सकी। सहादतपुर टीम पीयूष को मैन ऑफ मैच व मरहिया टीम के कप्तान बलवीर सिंह को मैन ऑफ द टूर्नामेंट के पुरस्कार के लिये चुना गया। मौके पर अभिषेक राय, माणिक ठाकुर, लड्डू सिंह, रूपेश सिंह, भोला सिंह इत्यादि की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

Related Articles

Back to top button