ताजा खबरेंपटनापश्चिम चंपारणबिहारब्रेकिंग न्यूज़

शराबकांड के अभियुक्त रामदेव सिंह ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

पूर्व में मृतक की बेटे की भी हुई थी जघन्य हत्या

बेटे के हत्या का अभियुक्त की भी हो गई थी हत्या

पत्नी भी छोड़ चुकी थी इसका साथ, इसलिए हो गया था मानसिक विक्षिप्त का शिकार

 

बेतिया मोहन सिंह-

नगर के कालीबाग ओपी थाना क्षेत्र के वार्ड नंबर 5 मिर्जा टोली मोहल्ले में सुबह होते ही हाहाकार मच गया। जैसे ही मालूम चला कि मोहल्ले के निवासी रामदेव सिंह उम्र 45 वर्ष पिता स्व. नारायण सिंह के द्वारा अपने ही कमरे को बंद कर आत्महत्या कर लिया है। निचले भाग में मृतक स्वयं अकेले रहता था और ऊपरी मंजिल पर मृतक के बड़े भाई सत्यदेव सिंह रहते हैं।

 

उपरोक्त आशय की सूचना जब स्थानीय लोगों के द्वारा पुलिस को दी गई तो पुलिस थोड़ी विलम्ब से पहुंची और लगभग 12 बजे कालीबाग ओपी थानाध्यक्ष मनीष कुमार पहुंच कर घटना की जांच की और अंदर से बंद कमरे में मृतक की शव लटकते खिड़की से देखा।

 

शव निकालने को लेकर मजबूत घन के सहारे लोहे की बनी दरवाजा को पुलिस तोड़वाकर शव को कब्जे में ले पोस्टमार्टम में भेजने की कार्यवाही कर रही है।

घटना के बीती रात जिले की एससी एसटी थाना की पुलिस मृतक के बड़े भाई सत्यदेव सिंह और भाभी सरोज देवी के नाम से हरिजन एक्ट में वारंट लेकर आई थी और उनके नहीं रहने पर मृतक रामदेव सिंह को ही पूछताछ के लिए ले गई थी और जब वो घर आएं तो सहमे से थे।

आपको बताते चले कि 2018 में गोलू बैठा ने मृतक रामदेव सिंह के पुत्र वीर सिंह की अप्राकृतिक यौनाचार कर हत्या कर निर्माणाधीन शौचालय टंकी में फेंक दिया था । और बाद में अभियुक्त गोलू बैठा की भी निर्मम हत्या कर टेलवे ट्रैक पर फेंक दी गई थी। रामदेव सिंह की पत्नी ने पूर्व में ही रामदेव सिंह का साथ छोड़ दिया था। और पुत्र की मौत के बाद वो विक्षिप्त बन बैठा था।

वहीं कालीबाग ओपी थानाध्यक्ष मनीष कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि मृतक शराब के मामले में नामजद अभियुक्त था जिसका कांड संख्या 858/18 है और उसके केश में गवाही वगैरह हो चुकी थी और फैसला आने वाला था।

अब आत्महत्या की कौन सी वजह रही यह पुलिस अनुसंधान का विषय है जो कि पुलिस अपने अनुसंधान के बाद खुलासा कर सकती है।

मृतक के घर पर परिजनों का रोना पीटना लगा हुआ है। मोहल्ले वालों में भी शोक की लहर है कि एक साथ कितनी घटना मृतक के साथ विगत 3 साल में घट गई और अब कोई भी उसके अपने परिवार का नहीं बचा हुआ है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Live Updates COVID-19 CASES
Close